cc0cd9f9a6125c8a93db4e29099d4cdb5409174a_original

जानिये अंतरिम बजट के बाद कहाँ कहाँ मिलेगी टैक्स में छूट

मोदी सरकार ने अंतरिम बजट में टैक्सपेयर्स को खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को बजट पेश करते हुए कई बड़े ऐलान किए, जिनका टैक्सपेयर्स को लंबे समय से इंतजार था। आइए आपको बताते हैं सरकार ने कितने और किस-किस छूट की घोषणा की है।

5 लाख तक की आमदनी, टैक्स टेंशन नहीं: 5 लाख रुपये तक की व्यक्तिगत आय पूरी तरह से टैक्स मुक्त होगी। अभी तक 2.5 लाख रुपये तक की आमदनी टैक्स पर टैक्स छूट मिलता था।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

ज्यादा कमाई पर निवेश से टैक्स माफ: विभिन्न निवेश उपायों के साथ 6.50 लाख रुपये तक की व्यक्तिगत आय पर कोई टैक्स नहीं देना होगा।

स्टैंडर्ड डिडक्शन: पिछले बजट में सरकार ने 40 हजार रुपये स्टैंडर्ड डिडक्शन की शुरुआत की थी। अब इसे बढ़ाकर 50 हजार रुपये किया गया है। इससे 3 करोड़ से अधिक वेतनभोगियों और पेंशनभोगियों को 4,700 करोड़ रुपये का अतिरिक्त लाभ प्राप्त होगा।

रेंटल इनकम पर टीडीएस सीमा: रेंटल इनकम पर टीडीएस सीमा 1,80,000 से बढ़ाकर 2,40,000 करने की घोषणा की गई।

दूसरा घर है तो टैक्स नहीं: दूसरे घर पर अब कल्पित टैक्स नहीं। इस समय कल्पित किराये पर टैक्स उस स्थिति में देय होता है, जब किसी के पास एक से अधिक ऐसे मकान हों, जिनमें स्वंय रह रहा हो।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम


इनकम टैक्स की धारा 54 के तहत पूंजीगत लाभ के पुनर्निवेश पर छूट के दायरे को 2 लाख करोड़ तक के पूंजीगत लाभ अर्जित करने वाले करदाताओं के लिए एक आवासीय मकान से दो आवासीय मकान में पुरर्निवेश तक बढ़ाया जाएगा।

ब्याज पर टैक्स नहीं: वित्त मंत्री ने बैंकों और डाक खाकघर की बचत योजनाओं पर मिलने वाले सालना 40000 रुपये तक के ब्याज को स्रोत पर कर की कटौती (टीडीएस) से छूट दे दी है। अभी छूट 10000 रुपये तक के ब्याज पर थी।

ग्रैच्युटी की सीमा भी बढ़ी: सरकार ने ग्रैच्युटी की सीमा को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 30 लाख रुपये करने की घोषणा की।

Connect With Us
Facebook
Facebook
Instagram
LinkedIn
Tags: No tags

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *