BAKS CLOTHING CO. (14)

Share Market : 2018 में बाजार ने सिखाए ये 5 सबक, 2019 में ये 5 सेक्टर दे सकते है मुनाफा !!

साल 2018 share market के लिए कई उतार-चढ़ाव लेकर आया। रिटर्न के लिहाज से यह साल कुछ खास नहीं रहा। अब यह साल अपने अंतिम हफ्ते की ओर अग्रसर है। इस साल बाजार ने सर्वोच्च स्तर भी देखे और इसे कई बड़ी गिरावटों से भी दो-चार होना पड़ा। कुल मिलाकर 2008 ने हमें कई पाठ पढ़ाए। आइए इन सबक के बारे में जानते हैं।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

1. इतिहास हमें बताता है कि बाजार में धैर्य कितना जरूरी है।

2. निवेश से पहले हमें शेयर का पूरी तरह विश्लेषण करना चाहिए।किसी कंपनी के वित्तीय आंकड़े, वार्षिक रिपोर्ट और कारोबार को समझने के बाद ही कंपनी में निवेश करना समझदारी है।

3.ऐसी कंपनियों के शेयरों में निवेश करें। जिनके बिजनेस में ग्रोथ की क्षमता नजर आए। कंपनियों के तिमाही के नतीजों पर नजर बनाए रखें। यदि आप कंपनी के बारे में पूरी तरह आश्वस्त हों, तो ही बाजार में निवेश करें। निवेश लंबी अवधि के लिए करें।

4.शेयर बाजार में कई मौकों पर लालच आ सकता है। लेकिन, ठोस और मजबूत बुनियाद वाले कारोबार ही आपको फायदा पहुंचाएंगे । निवेशकों को मोटी कमाई के लिए बेहतर प्रबंधन वाली कंपनियों में निवेश करना चाहिए।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

5.थोड़ा-थोड़ा कर किस्तों में किया गया निवेश जोखिम प्रबंधन की दिशा में काफी लाभदायक साबित हो सकता है। एक मुश्त निवेश के बजाय नियमित अंतराल पर छोटी-छोटी रकम लगाकर बढ़िया कमाई हासिल की जा सकती है।

नया साल दस्तक दे रहा है। इससे निवेशकों को कई उम्मीदे हैं. भारत में इक्विटी निवेश के लिए सबसे बढ़िया माध्यम बन चुका है। हालिया गिरावट के बाद भी निवेश के कई अवसर मौजूद हैं।

आप 2019 में इन सेक्टर पर लगा सकते हैं दांव:

एफएमसीजी और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स

ग्रामीण और शहरी इलाकों में खपत बढ़ने की वजह से यह सेक्टर काफी आकर्षक नजर आ रहा है। लोगों की खर्च योग्य आय में इजाफा हो रहा है। कई प्रोडक्ट्स पर जीएसटी दर भी 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी होने जा रही है। साथ ही रिटेल सेगमेंट तेजी से अपने पैर पसार रहा है।

आईटी

आईटी कंपनियां तेजी दिखा सकती हैं। अमेरिकी कंपनियां आईटी पर अपना खर्च बढ़ा रही हैं, जो भारतीय आईटी कंपनियों के लिए फायदेमंद है। कंपनियों में क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग जैसी सेवाआों से रेवेन्यू बढ़ रहा है। इसका असर पूरी इंडस्ट्री पर पड़ रहा है।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

फार्मा

बीते कुछ सालों से अमेरिकी नियामक की वजह से इस सेक्टर पर दबाव रहा है. शोध व विकास और जीएसटी से संबंधित वजहों से फार्मा कंपनियों की कमाई पर असर पड़ा है। बीते कुछ महीनों में स्थिति बेहतर हुई है। भारतीय फार्मा कंपनियां जटिल और विशेष प्रोडक्ट बना रही हैं। इसके उनकों काफी लाभ होगा।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

निजी बैंक (रिटेल और कॉर्पोरेट केंद्रित)

सरकारी बैंकों पर दबाव के चलते निजी बैंकों का कारोबार बढ़ेगा. निजी बैंकों को एनबीएफसी सेक्टर पर दबाव का भी लाभ मिलेगा। इन बैंकों को फाइनेंस की बढ़ती पहुंच और संगठित स्वरूप का फायदा मिल रहा है। एनपीए की समस्या कम होने के आसार है। इस वजह से कॉर्पोरेट और रिटेल बैंक फायदे में रहेंगे।

 

Connect With Us
Facebook
Facebook
Instagram
LinkedIn
Tags: No tags

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *