दिग्गज निवेशक रमेश दमानी से जानिए शेयरों से मोटी कमाई का फार्मूला !!

कई निवेशकों की दिलचस्पी यह जानने मे होती है कि राकेश झुनझुनवाला, डॉली खन्ना और परॉन्जू वेलियाथ जैसे दिग्गज निवेशक शेयरों से पैसा कमाने के लिए किस तरह की रणनीति अपनाते है।  आज हम आपको शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक रमेश दमानी के बारे में बता रहे हैं। 
रमेश दमानी का कहना है कि अगर आप शेयर बाजार से मोटी कमाई करना चाहते हैं तो आपको हर तीन साल में अपना पैसा दोगुना करने का लक्ष्य रखना चाहिए। उन्होंने कहा, “अगर कोई निवेशक इस लक्ष्य को हासिल कर लेता है तो 10 लाख रुपये का निवेश 30 साल में बढ़कर 100 करोड़ रुपये हो जाएगा.” उन्होंने ये बातें एक वेल्थ क्रिएशन समिट में कही। 

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

दमानी ने बताया कि पैसा दोगुना करने का फार्मूला बहुत आसान है. तीन साल में पैसा दोगुना करने के लिए आपका पैसा बढ़ने की सालाना चक्रवृद्धि दर (CAGR) 24 फीसदी होनी चाहिए।  उनका कहना है कि ‘प्रिंसिपल ऑफ कंपाउंडिंग’ से आप इसे हासिल कर सकते हैं। 

शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक ने कहा कि शानदार कंपनियां बैगर खास कोशिश के लंबी अवधि में इस तरह का रिटर्न देती हैं। उन्होंने कहा, “ग्रेट बिजनेसेज समय के साथ बढ़ते जाते हैं. इसी के साथ आपका पैसा भी बढ़ता जाता है. मोटा पैसा कमाना का फार्मूला यह है कि अपने पैसा को हर तीन साल में दोगुना किया जाए। “

दमानी ने कहा कि अच्छी कंपनियां (Great Bussinesses) बाजार के कई चक्र के बाद शानदार फ्रैंचाइजी बना सकती हैं. उनका प्रबंधन और कीमत तय करने की क्षमता जबर्दस्त होती है। वे बाजार के कई चक्र के दौरान खुद को बनाए रखती हैं, क्योंकि इनसानी आदतें बदलती नहीं हैं। 

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक ने निवेशकों को कंपाउंडिंग का सिद्धांत सीखने की सलाह दी। इससे आपको वित्तीय मामलों में आजादी मिल सकती है। उन्होंने कहा, “कंपाउंडिंग तभी कामयाब हो सकती है, जब कोई काफी कम उम्र से निवेश करना शुरू कर दें और लंबी अवधि तक इसे जारी रखे. इससे आपका पैसा बढ़कर बड़ा फंड बन जाएगा। छोटी रकम से जल्द शुरू किया गया निवेश भी 20 से 30 साल में बड़ा अंतर पैदा करता है। “

युवा निवेशकों को दमानी ने सलाह दी कि उन्हें ऐसे किसी एक सेक्टर में निवेश करना चाहिए। जिसकी उन्हें समझ हो। उन्हें इसके बारे में थोड़ी जानकारी भी रखनी चाहिए। उन्होंने कहा, “बीएसई में ऐसे 5000 शेयर हैं, जिनमें रोजाना कारोबार होता है। ऐसे सेक्टर की पहचान करने की कोशिश कीजिए, जो प्रतिस्पर्धी हो । अगर आप बैंकर हैं तो आपको बैंकों के शेयरों के बारे में सोचना चाहिए। अगर आप डॉक्टर हैं तो आपको फार्मा कंपनियों के बारे में सोचना चाहिए । “

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

दमानी का कहना है कि इस आधार पर किसी सेक्टर में निवेश करने का कोई फायदा नहीं कि दूसरे भी उसमें निवेश कर रहे हैं। उन्होंने इस बारे में अपना उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि अमेरिका से लौटने पर उन्हें टेक्नोलॉजी शेयरों की अच्छी समझ थी।  इसलिए उन्होंने टेक्नोलॉजी शेयरों में निवेश किया और अच्छा पैसा कमाया। 

कई गुना रिटर्न देने वाले शेयर (मल्टीबैगर) की पहचान करने के बारे में दमानी का कहना है कि आपको कंपनी की वैल्यू कैलकुलेट करना आना चाहिए।  आप किसी शेयर के बाजार भाव से उसके आउटस्टैंडिंग शेयरों को गुणा कर कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन निकाल सकते हैं।  मार्केट कैपिटलाइजेशन और कारोबार में वैल्यू एडिशन के अंतर के आधार पर यह अंदाजा लगा सकते हैं कि कंपनी की वैल्यू क्या है। 

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

दमानी ने कहा, “इंफोसिस ने आईपीओ से सिर्फ 50 करोड़ रुपये जुटाए थे।  अब यह 3 लाख करोड़ रुपये की कंपनी बन गई है।  एक बार अगर आप कंपनी की असल वैल्यू निकाल लेते हैं तो आपके लिए उसके भविष्य पर दांव लगाना आसान हो जाता है.” उन्होंने कहा कि किसी कंपनी की ग्रोथ की संभावनाओं को जानना बहुत जरूरी है। 

इस दिग्गज निवेशक ने टाइपराइटर के बिजनेस का उदाहरण दिया।  उन्होंने कहा कि इस बिजनेस में चाहे जितना भी निवेश कर लिया जाए, इसके शेयर सस्ते रहेंगे, क्योंकि इस बिजनेस के बढ़ने की कोई वजह नहीं है।  दूसरी तरफ, मीडिय इंडस्ट्री के डिजिटल बनने से ग्रोथ के मौके बने हैं. साइबरसिक्योरिटी में काफी वैल्यू है।  इसकी वजह यह है कि लोग साइबर हमलों से खुद को सुरक्षित करना चाहते हैं। 

Connect With Us
Facebook
Facebook
Instagram
LinkedIn
Tags: No tags

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *