BAKS CLOTHING CO. (13)

अगर बनना चाहते है भारत में एक सफल निवेशक तो आज ही अपनाइए ये 9 टिप्स !!

पैसे कमाने के सिर्फ दो ही तरीके हैं- एक तो खुद काम करके और दूसरा अपनी संपत्ति से अपने लिए काम कराकर। आपको पैसे की आवश्यकता जीवन भर रहेगी, लेकिन आपका शरीर आपके बुढ़ापे के दिनों में काम करने में आपका सपॉर्ट नहीं करेगा। सिर्फ आपके द्वारा कमाए गए पैसे की बचत से काम नहीं चलेगा, अच्छे फ़्यूचर के लिए आपको अपने पैसे को इन्वेस्ट करना होगा।

एक स्मार्ट इन्वेस्टर वह होता है जो अपनी जरूरतों और लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए मैक्सिमम लाभ पाने के लिए सही फ़ाइनैंशल प्रॉडक्ट का चुनाव करके इन्वेस्टमेंट करता है।

एक स्मार्ट इन्वेस्टर बनने के लिए इन्वेस्टमेंट करते समय इन 10 बातों का ध्यान जरूर रखें-

1. शुरुआत जल्दी करें: जैसे ही आप कमाई शुरू करें वैसे ही कमाई के एक छोटे से हिस्से से इन्वेस्टमेंट करना शुरू कर दें। छोटी राशि से इन्वेस्टमेंट की शुरूआत फ़्यूचर में आपकी लाइफ की क्वॉलिटी पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकती है।

2. लॉन्ग-टर्म इन्वेस्ट करें: आगे बढ़ने के लिए कोई शॉर्टकट नहीं है। व्यवस्थित ढंग से और लगातार लॉन्ग-टर्म इन्वेस्ट करके आप ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

3. अपनी जरूरतों को जानें: अपनी जरूरतों और लक्ष्यों को समझने के बाद इन्वेस्ट करें। उदाहरण के लिए: बच्चे की शिक्षा या रिटायरमेंट फंड के लिए लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टमेंट की जरूरत होगी वहीं घर या कार खरीदने के लिए शॉर्ट-टर्म इन्वेस्टमेंट की जरूरत होगी। आपको इन्वेस्टमेंट करने के लिए यथार्थवादी दृष्टिकोण अपनाना होगा।

4. अपनी रिस्क लेने की क्षमता को जानें: इन्वेस्ट करने से पहले, आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि आप कितना रिस्क उठा सकते हैं। अशांत बाजारों के दौरान भी आप किस सीमा तक सामान्य रहते हैं उसी क्षमता के अनुसार ही विभिन्न इन्वेस्टमेंट में अपने पैसे को लगाएं।

5. टैक्स लाभ के लिए इन्वेस्ट: टैक्स लाभ वाले इन्वेस्ट प्लान्स पर विचार करते समय, ध्यान रखें कि ऐसे विकल्प का चयन करें जिसमें आपको प्राप्त होने वाली राशि टैक्स फ्री हो, उदाहरण के लिए- लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी। ऐसे बहुत से इन्वेस्टमेंट प्रॉडक्ट्स और पेमेंट्स हैं जो 1 लाख रुपये की सीमा तक इस लाभ की पात्रता रखते हैं।

6. संपत्ति ऐलोकेशन पर फोकस: कौन से स्टॉक या फंड में साल दर साल किस प्रकार की गिरावट आएगी इस बात की भविष्यवाणी करना लगभग असंभव है। अलग अलग तरह के शेयर और बांड फंड में इन्वेस्टमेंट के लिए बेहतर रणनीति बनाकर आप बेहतर लॉन्ग-टर्म रिटर्नस् पा सकते हैं।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

7. नए फंड सावधानी से चुनें: किसी नए फंड को लेने के बारे में तब ही विचार करें जब उसमें कुछ यूनीक हो और वह आपके करंट इन्वेस्टमेंट के पूरक हो।

8. गिरावट पर इन्वेस्ट करें: एक व्यवस्थित तरीके से हर महीने और विशेष रूप से हर गिरावट के समय इन्वेस्ट करें। (यदि यह संभव हो तो)

9. निरतंरता बनाए रखें: एक नियमित इन्वेस्टर बनकर अपने शेयर केवल तभी बेचें जब आपको पैसे की जरूरत हो या आपकी इन्वेस्टमेंट के साथ फ़ंडामेंटली कुछ गलत हो रहा हो।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

10. नकारात्मक पक्ष पर विचार करें: आपके द्वारा इन्वेस्ट किए गए फंड्स पर दृढ़ विश्वास रखना अच्छा है लेकिन थोड़ा सा संदेह रखना भी अच्छा होता है। इसलिए किसी भी तरह का इन्वेस्टमेंट करने से पहले बाद के नकारात्मक पक्षों को भी जान लें।

Connect With Us
Facebook
Facebook
Instagram
LinkedIn
Tags: No tags

6 Responses

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *