BAKS CLOTHING CO. (5)

जानिए, कैसे शुरू करें कमोडिटी ट्रेडिंग और किन बातों का रखें ध्यान !!

कमोडिटी ट्रेडिंग समझने से पहले यह जानना जरूरी है कि कमोडिटी क्या होती है। आपको बता दें कि हर वो चीज जिसे छुआ जा सके और जिसकी खरीद-फरीख्त हो सके, उसे कमोडिटी कहते हैं। इन कमोडिटीज को बेचने और खरीदने के काम को ही कमोडिटी ट्रेडिंग कहते हैं। आपको बता दें कि यहां पर ट्रेडिंग सामान्य बाजार की तरह नहीं होती है। यहां पर सारी ट्रेडिंग भविष्य के लिए की जाती है। सौदे का दिन आने पर ट्रेडर सौदे काट सकता है या फिर वह चाहे तो उसकी डिलिवरी भी ले सकता है।

कैसे आरंभ करें कमोडिटी ट्रेडिंग

कमोडिटी ट्रेडिंग आरंभ करने के लिए आपके पास ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए। ध्यान रहे आपको ट्रेडिंग एकाउंट उसी ब्रोकर के साथ खोलना होता है, जिसने प्रमुख कमोडिटी एक्सचेंजों जैसे एमसीएक्स, एनसीडीईएक्स आदि की सदस्यता ले रखी हो। इन एक्सचेंजों की वेबसाइट पर इनसे जुड़े ब्रोकरों की सूची आपको मिल जाएगी। यह खाता खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड, एड्रेस प्रूफ और बैंक खाता होना चाहिए।
इस खाते के लिए ब्रोकर आपसे एक शुल्क लेते हैं। यदि आप खुद ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो आपके पास कम्प्यूटर और इंटरनेट की सुविधा होनी चाहिए, लेकिन यदि आप ब्रोकर से ट्रेडिंग करवाते हैं तो आप उसे फोन करने भी अपनी कॉल बता सकते हैं। यह सब जुटा लेने के बाद कमोडिटी ट्रेडिंग के बारे में समझ बढ़ाएं और मॉक ट्रेडिंग करें। इसके बाद आप कमोडिटी में ट्रेडिंग आरंभ कर सकते हैं।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने से पहले क्या रखें ध्यान


कमोडिटी में ट्रेडिंग आरंभ करने से पहले यह जानना अहम है कि यह काफी जोखिम भरा होता है, इसलिए जरूरी है कि आप पूरी तैयारी करने के बाद ही इस क्षेत्र में प्रवेश करें। हालांकि, जोखिम के साथ ही साथ इस क्षेत्र में लाभ की संभावनाएं भी अधिक होती हैं। यदि कारोबारी ने सही निर्णय लिया तो वह काफी तेजी से पैसे बना सकता है। इस क्षेत्र में जोखिम को कम करने के लिए कारोबारी को स्टॉप लॉस निर्णयों को सटीक तरीके से लागू करना चाहिए। ध्यान रखें कि इस क्षेत्र में स्टॉप लॉस न लगाने पर आप अपनी पूरी पूंजी से हाथ धो सकते हैं।

डाउनलोड करे शेयर मार्केट फ्री इ बुक और सीखे कैसे शेयर मार्केट में किया जाता है काम

कैसे करें कमोडिटी में डाइवर्सिफाई

आम तौर पर लोगों के पोर्टफोलियो में डेट विकल्पों और शेयरों का बोलबाला होता है, लेकिन उन्हें चाहिए कि वे अपने पोर्टफोलियो में कमोडिटी को भी शामिल करें। आदर्श स्थितियों में किसी निवेशक के पोर्टफोलियो में कमोडिटीज को 10-15 प्रतिशत स्थान मिलना चाहिए। हालांकि, इसके लिए जरूरी है कि वे इससे पहले पर्याप्त शोध कर लें। आम निवेशकों के लिए कमोडिटी में निवेश के आरंभ का सबसे आसान तरीका है गोल्ड ईटीएफ में निवेश। गोल्ड ईटीएफ में निवेश से संबंधित जोखिम को कम करने का सबसे बेहतर उपाय यह है कि उसमें सुनियोजित निवेश योजना (सिप) को अपनाया जाए।


Connect With Us
Facebook
Facebook
Instagram
LinkedIn
Tags: No tags

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *